फ्यूज के फायदे और नुकसान क्या हैं?

फ्यूज आपके घर में सभी सधोनो को बचाता है जब बिजली की मात्र जयाद होती है और जब बजली सर्किट से होक आपके उपकरणों को नुक्सान पहुचता है. इसीलिए हम फ्यूज को रख ते है ताकि जब बिजली की मात्र जयाद हो तब हमारे उपकरणों को ना बिगाड़े।

जब सामान्य सिथिति में बिजली बह रही होती है तब तो सब कुछ सही होता है पर खतरा तब होता है जब निजकी की मात्र बड जाती है और इतनी जयाद होती है की सर्किट की कैपेसिटी से जयाद होजाती है तब फ्यूज का वायर गरम होकर पिखाल जाता है इसके कारन जयाद बिजली आपके उपकरणों के पास नही पहुचिती, और आपके सभी उपकरण सही सलामत रहते इस लिए हम हमारे घर में फ्यूज का इस्तमाल करते है।

फ्यूज को तब इस्तमाल में लिया जाता है जब बिजली की मात्र जयादा या कम होती  है, और फ्यूज को तब लगाया जाता है जब जयाद उपकरण एक साथ चल रहे होते है।

और फ्यूज के उड़ने का तै समय नहीं होता, यह निर्भर करता है बिजली पे जब बिजली की मात्र बहुत जयाद होती है तो फ्यूज जयादा जल्दी से पिघलता है।

अगार हम विज्ञान की भासा में देखे तो फ्यूज एक वायर है जिसके पिघल ने का तापमान बहुत कम होता है, और उसको  य्उप्पयोग करण बचाने के लिए होता है। 

आइये देख ते है फ्यूज के क्या फायदे है:

  1.  फ्यूज को मैन्तानांस की जरुरत कम होती है या भीर ये भी कह सकते है की मैन्तानांस की जरुरत कम लागत में आती है।
  2. फ्यूज आपके उपकरणों को बचाता है और यह एक सस्ता होता है।
  3. फ्यूज का काम सरल होता है और यह आसानी से लग्भी जाता है।
  4. फ्यूज में इतनी क्षमता होती है की वह शोर्ट सर्किट से होने वाली आवाज, और धुवे को दखल अंदाज कर सकता है।
  5. फ्यूज के संचालन समय को सर्किट के सञ्चालन समय से छोटा कर सकते है।
  6. फ्यूज एक प्राइमरी या आप कह सकते है की प्उराथमिक उपकरण है।

आइये देखते है की फ्यूज के क्या क्या नुकसान है:

  1. अगर एक बार शोर्ट सर्किट या बिजली ओवरलोड हुई तो फ्यूज को बदल ने में समय लग सकता है।
  2. जब फ्यूज को सर्किट से जोड़ा जाता है तब भेद करना मुस्किल होता है, जब तक फ्यूज की क्षमता को घटाया या बढ़ाया नहीं जाता।

आप हमारे इस आर्टिकल को भी पढ़ सकते है।

फ्यूसिबल ANL

1 thought on “फ्यूज के फायदे और नुकसान क्या हैं?”

Leave a Comment